Breaking News
Home / Latest / जौनपुर। कोटे की दुकान का चयन को लेकर गहमागहमी के बीच चार समूह महिलाओं ने दिया अपना आवेदन

जौनपुर। कोटे की दुकान का चयन को लेकर गहमागहमी के बीच चार समूह महिलाओं ने दिया अपना आवेदन

नवनीत सिंह रिपोर्टर
जौनपुर। रामनगर विकासखंड के परशुरामपुर गांव में अनियमितता के आरोप में काफी दिनों से निरस्त चल रही कोटे की दुकान को लेने के लिए डौढ़ी के प्राइमरी स्कूल पर चार समूह के महिलाओं ने उपस्थित होकर अपना-अपना आवेदन नोडल अधिकारी को सौंप दिया। इस दौरान विद्यालय प्रांगण में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण जूटे रहे। जिसके कारण काफी गहमागहमी का माहौल बना रहा।

परशुरामपुर गांव में बेचूलाल गौतम की सरकारी कोटे की दुकान थी। राशन वितरण में भारी अनियमितता की शिकायत पर सप्लाई विभाग ने जांच के बाद कुछ माह पूर्व उनके कोटे की दुकान का निलंबन कर दिया था। जिसके कारण गांव के ग्रामीणों को राशन लेने के लिए दूसरे गांव में अटैच दुकानदार के यहां जाना पड़ता था। कोटे की नई दुकान के चयन के लिए ग्रामीणों की मांग तेजी पकड़ लिया था।

गुरुवार की दोपहर जिले से जिला पिछड़ा कल्याण अधिकारी ने पहुंचकर एडीओ पंचायत रामनगर उमाकांत पांडेय, सिक्रेटरी विष्णु प्रिया की देखरेख में कोटे की दुकान का चयन करने के लिए डौढ़ी प्राइमरी स्कूल के प्रांगण में चौपाल लगाकर आवेदन की मांग किया।

जिसके बाद गांव के चार समूहों की महिला अध्यक्षों ने आकर अपना अपना आवेदन प्रस्तुत किया। इस दौरान आवेदन देने वालों के साथ आए भारी संख्या में ग्रामीणों में गहमागहमी का माहौल बना रहा। जिसके चलते नोडल अधिकारी ने सारे आवेदकों का आवेदन लेकर चयन समिति के पास सिफारिश के लिए लेकर चले गए।

इस संबंध में एडीओ पंचायत उमाकांत पांडेय ने बताया कि गुरूवार को चार समूह महिलाओं ने आवेदन किया है। जिसकी जांच किया जा रहा है जांच के बाद चयन समिति के अध्यक्ष एसडीएम अर्चना ओझा के पास प्रस्तुत किया जाएगा। उसके बाद जिस समूह के पास सरकारी राशन की दुकान चलाने के लिए एकाउंट में पैसे उपलब्ध रहेगा उसे दुकान दे दिया जाएगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES