Breaking News
Home / Latest / जौनपुर। मां ने बेटी के शव की हालत देखते ही रोकर दफनाने को रोका, पुलिस पहुंचते ही सब हुई रफू चक्कर!

जौनपुर। मां ने बेटी के शव की हालत देखते ही रोकर दफनाने को रोका, पुलिस पहुंचते ही सब हुई रफू चक्कर!

जौनपुर। मड़ियाहूं नगर के मिर्दहा मोहल्ले में एक विवाहिता संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर हुई मौत के मामले में पहुंचे मायके वालों ने पुलिस को विवाहिता को मार डालने का आरोप लगाते हुए सूचना दिया और शव को दफनाने से रोकने की बात कही। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
बताया जाता है कि मिर्दहा मोहल्ले के जमीरू अतिक की शादी 24 मई 2022 को हंडिया इलाहाबाद निवासी स्व.सैयद जलील हसन की बेटी आयशा बेगम 30 वर्ष से हुआ था। शादी के बाद से सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था कि बुधवार की रात 8:00 बजे वह अपने पहले तल पर स्थित कमरे में पंखे से फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया।
परिजनों ने उसकी मौत की सूचना मृतक के मायके भाई सैयद बिलाल हसन को यह कहते हुए दिया की बहन बीमार थी इलाज के दौरान मौत हो गई। सुबह 10:00 बजे उसकी मिट्टी कब्रिस्तान में दफनाई जाएगी। गुरुवार की भोर 4 बजे मायके से मृतक का भाई सैयद बिलाल हसन और माता हुसना बानो समेत परिजन मिट्टी में शामिल होने के लिए पहुंचे।
सुबह मृतका को नहलाने का काम शुरू हुआ तभी मृतिका के माता हुसना बानो की नजर मृतिका के गले में बांधी गई कपड़े पर पड़ी तो वह खोल कर देखना चाही जिसके बाद परिजनों ने इसका विरोध किया। विरोध करते ही मामला बिगड़ गया और मृतका की मां जोर जोर से चिल्लाने लगी और अपने परिजनों को बाहर से बुलाया। उसके बाद दबाव मृतका के गले को देखने के लिए बनाया जाने लगा, लेकिन परिजन राजी नहीं हुए। जिसके बाद मड़ियाहू कोतवाली के इंस्पेक्टर ओम नारायण सिंह देव को सूचना दी गई। सूचना पर क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार सिंह एवं इंस्पेक्टर ओम नारायण सिंह देव पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और गले का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पुलिस ने गले में फांसी के फंदे का निशान पाया। मृतक के मायके वालों ने फांसी लगाकर लटकाने की शिकायत किया। पुलिस ने पहले तल पर पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू किया तो कमरे के बेड के पास फर्श पर काफी मात्रा में मिट्टी एवं हाथ के निशान पाए गए। जिससे पुलिस को शक हुआ कि कहीं न कहीं घटना मृतका को फांसी देने के लिए किया गया है। पुलिस जांच के दौरान परिजन फरार हो गए। उसके बाद मामले की जांच में जुटी पुलिस को देखते ही आसपास के लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। पड़ोसियों की माना जाए तो पुलिस ने मृतक के पति जमीरू अतीक एवं सासु अनीशा फातमा को गिरफ्तार कर कोतवाली भेजा। लेकिन पुलिस गिरफ्तारी से इनकार कर रही है।
इस संबंध में पूछे जाने के बाद मड़ियाहूं कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर ओम नारायण सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया विवाहिता की फांसी पर लटका कर मारने का आरोप लगाया जा रहा है। इसी दृष्टि से जांच की जा रही है। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पूरी तरह घटना साफ हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!