Breaking News
Home / Latest / जौनपुर। मडियाहू पत्रकार आरिफ खान के वालिद समाजसेवी एवं व्यवसायी स्व. अमानुल्लाह खान हुए सुपुर्द ए खाक
PhotoBy-Sandesh24news

जौनपुर। मडियाहू पत्रकार आरिफ खान के वालिद समाजसेवी एवं व्यवसायी स्व. अमानुल्लाह खान हुए सुपुर्द ए खाक

जौनपुर(12जन.)।अमर उजाला के पत्रकार एवं संदेश 24 न्यूज़ के संपादक आरिफ खान के वालिद का सुपुर्द ए खाक बाईपास स्थित कब्रिस्तान  पर 2:30 बजे हो गया। वालिद स्व. अमानुल्लाह खान की जनाजा उनके पैतृक निवास कस्बे से 2:00 बजे उठाया गया और सैकड़ों लोगों ने उन्हें नम आंखों से विदाई देते हुए आगे बढ़े। जनाजे में क्षेत्र के संभ्रांतगण, पत्रकारगण, अधिवक्ता एवं समाजसेवी लोगों ने उनके अंतिम विदाई में साथ रहे। स्वर्गीय खान समाजसेवी के साथ- साथ एक साइकिल के बहुत बड़े व्यवसाई थे अपने व्यवसाय के चलते मड़ियाहूं के आसपास में काफी चर्चित शख्सियत के रूप में जाने पहचाने जा रहे थे उनके निधन से क्षेत्र के लोगों में काफी दुख रहा। स्वर्गीय अमान उल्ला खान को परिवार से लेकर जानने पहचाने वाले उन्हें प्यार से बाबू चच्चा ही कहते थे। बाबू चच्चा 92 वर्ष पूरा कर इस दुनिया से हम सभी को अलविदा कह चले चले गए जिनकी कमी हम सभी को सदैव खलती रहेगी।

जीते जी अपनी कुर्सी नहीं छोड़ी –

समाजसेवी स्व. खान जब तक होश में थे और चलने फिरने की शरीर में शक्ति थी अपने बिजनेश की कुर्सी को नहीं छोड़ा।

बीते दिनों की  स्मरण-
बाबू चाचा के लिए जो अपना हो जाता था उसके लिए सब कुछ करने के लिए हमेशा तैयार रहते थे जिसके चलते जो उनसे एक बार मिल जाता था फिर उन्हें छोड़ना नहीं चाहता था। जिसको वह प्यार देते थे उसको भरपूर देते थे नहीं देते थे तो उनसे दूरी बना कर रहते थे, अपनों के लिए चाहे वह बाहर हो चाहे घर के सदस्य क्यों न हो हमेशा सही रास्ते पर चलने की सलाह देते थे। ऐसी ही एक स्मरण बृजराज चौरसिया सन्देश24न्यूज़ के मुख्यसंपादक सुनाते है कि मुझे याद है कि मैं उनकी दुकान से बच्चे की एक गाड़ी लेने गया मैंने आरिफ खान जी से पैसे पूछा उन्होंने ₹50 ज्यादा बता दिया लेकिन आरिफ जी ने कहा कि और कम कराना हो तो बाबू चच्चा से एक बार कहो हो सकता है, तब तक उनके कानों तक मेरी बात पहुंच चुकी थी उन्होंने तपाक से कहा कि जो मेरी लुधियाना से खरीद हो वही पैसे लेना मेरे नाती के लिए जा रहा है, तो ऐसे थे चाचाजी।

बिजनेस में समझौता नहीं करते थे बाबू चच्चा
स्वर्गीय खान साइकिल के बिजनेस में कभी भी समझौता नहीं किया वह बाजार से अच्छे से अच्छे पार्ट को ढूंढ कर लाते थे और वही ग्राहकों को टाइट पैसों में बेचते थे।जिसके कारण उनकी बिजनेस आज भी चलती चली जा रही है।
संदेश 24 न्यूज़ परिवार ऐसी समाजसेवी सख्सियत को नमन करता है और श्रद्धांजलि देता है की जहां भी उनकी आत्मा रहे उनको ईश्वर सुखद अनुभूति प्रदान करें।

पत्रकारों की शोक गोष्ठी संपन्न

मडियाहू नगर स्थित जायसवाल न्यूज़ एजेंसी पर पत्रकार संघ अध्यक्ष काली प्रसाद जायसवाल की अध्यक्षता में एक शोक गोष्ठी संपन्न हुई। जिसमें पत्रकार आरिफ खान के पिता समाजसेवी अमान उल्लाह खान उर्फ मन्ना खां (86 वर्ष) की मृत्यु पर गहरा दुख प्रकट करते हुए उन्हें शोक श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर राजेश पांडे, नसीम अहमद, जेडी सिंह, बृजराज चौरसिया, बी के जायसवाल, इकबाल खान,राधे कृष्ण शर्मा, समाजसेवी राजकुमार शर्मा, कृष्ण कुमार तिवारी, राहुल सिंह, सोनू मोदनवाल, अफ्फान अहमद आदि लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!