Breaking News
Home / Latest / जौनपुर। फर्जी मीटर रीडर बताकर अवैध पैसे वसूल रहे कर्मचारी की हुई जमकर पिटाई

जौनपुर। फर्जी मीटर रीडर बताकर अवैध पैसे वसूल रहे कर्मचारी की हुई जमकर पिटाई

जौनपुर। मड़ियाहूं के बरसठी थाना क्षेत्र के मियांचक बाजार में बिजली का फर्जी मीटर रीडर बताकर उपभोक्ताओं से अवैध पैसे वसूल रहे कर्मचारी की जमकर पिटाई कर दिया गया। पिटाई से बाजार में अफरा-तफरी मच गई बाद में मीटर कर्मचारी के हाथ पैर जोड़ने पर उपभोक्ताओं ने उसे हिदायत देकर छोड़ दिया।

*मीटर रीडरों के फर्जीवाड़ा से परेशान उपभोक्ता*

बरसठी बाजार एवं आसपास क्षेत्रों में विद्युत मीटर लगवाने के नाम पर अवैध वसूली से उपभोक्ता परेशान है। क्षेत्र में फर्जी मीटर रीडर आकर उपभोक्ताओं को डरा धमका कर अवैध वसूली करने की शिकायत काफी दिनों से चल रहा है। मीटर लगवाने के नाम पर उपभोक्ता से दो–दो हजार रुपये की वसूली भी किया जा रहा था।
मीटर न लगा होने पर उपभोक्ता से मांगा गया मीट का दाम
खरगापुर(खोइरी) गांव निवासी उपभोक्ता दीपक गौतम ने बताया कि तीन फरवरी को उनके यहाँ दो मीटर रीडर धनंजय गौतम व अजीत गौतम पहुँचे। अपने को मीटर रीडर बताकर उसके घर को चेककर मीटर न लगा होने पर दो हजार रुपये मांगने लगे। उपभोक्ता पैसा न होने की बात कही तो मीटर रीडर ने कहा कि कम से कम 700 रुपये देना ही पड़ेगा नही तो आप के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा कर कार्रवाई की जाएगी। यह पैसा बड़े साहब (सुपरवाइजर) को देना है। जब बात नहीं बनी तो उन लोगो ने दो किलो मीट ही दिलाने की मांग किया। जिस पर दीपक को संदेह हुआ पैसे नहीं होने का बहाना बनाते हुए किसी दूसरे दिन मियांचक बाजार स्थित दुकान पर दोनों को बुलाया। इस बीच दीपक गौतम ने विद्युत विभाग से दोनों मीटर रीडरों के बारे में पता लगाया तो किसी ने जानकारी दिया कि दोनों अब विभाग से हटा दिए गए हैं।

*बाजार में मीटर रीडर के पहुंचते ही किया गया पिटाई*

आज शाम सात बजे दोनों फर्जी मीटर रीडर मियांचक बाजार में उपभोक्ता दीपक गौतम की दुकान पर पहुँच गये। उन लोगो के पहुँचने पर उपभोक्ता ने आसपास के दुकानदारों को बुला लिया और दोनों मीटर रीडरों की पिटाई करना शुरू कर दिया। जिससे बाजार में भीड़ जुटने से अफरा-तफरी मच गई। बाद में गलती मानने पर फर्जी बिजली कर्मचारियों को दोबारा ऐसा नहीं करने की हिदायत देते हुए छोड़ दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!