Breaking News
Home / Latest / मड़ियाहूं| पूर्वांचल का समग्र विकास तभी संभव है जब पृथक राज्य का गठन होगा-राजकुमार ओझा

मड़ियाहूं| पूर्वांचल का समग्र विकास तभी संभव है जब पृथक राज्य का गठन होगा-राजकुमार ओझा

मड़ियाहूं(जौनपुर) दिस.१६|पूर्वांचल का समग्र विकास तभी संभव है जब पृथक राज्य का गठन होगा। यह बातें पूर्वांचल राज्य गठन मोर्चा के संयोजक राजकुमार ओझा ने अलग पूर्वांचल राज्य गठन की मांग को लेकर रविवार को बलभद्र इंटर कॉलेज पाली के खेल मैदान में आयोजित जनसभा को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कहा।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों की अनदेखी की वजह से आज पूर्वांचल की दुर्दशा हो रही है। आखिर कब तक ये नेता पूर्वांचल को धोखा देते रहेंगे।आजादी के इतने वर्षों बाद भी पूर्वांचल के लोगों को बिजली, पानी ,सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं से जूझना पड़ रहा है। कहा कि आजादी के बाद पूर्वांचल में अदधोगिक विकास के लिए 32 चीनी मिले, एक स्टील फैक्ट्री ,सीमेंट फैक्ट्री स्थापित की गई थी ।जिसमें अधिकाश बंद हो गई है या बंद होने के कगार पर हैं। तीन खाद फैक्ट्री बंद हो गई है इससे जुड़े लोग बदहाली और भुखमरी का जीवन जीने को मजबूर हैं ।उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के कई नेता केंद्र व राज्य सरकार में उच्च पदों पर रह चुके हैं ।लेकिन इस पूर्वांचल के समग्र विकास के प्रति किसी ने ध्यान नहीं दिया ।उन्होंने पूर्वांचल के 27 जिलों को मिलाकर अलग पूर्वांचल राज्य गठन की मांग की है ।इसके लिए उन्होंने उपस्थित जनसमूह से पूर्वांचल राज्य के गठन का समर्थन मांगा। इसके पूर्व में संजय उपाध्याय अमित तिवारी ने भी सभा को संबोधित किया ।गायक आशीष पाठक ने अपनी भक्ति गीतों से उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता इश्तियाक खान, संचालन हाजी नूर अहमद ने किया । इस मौके  पर अशोक मिश्रा ,वकील अहमद ,राजकुमार गौतम ,तिलकधारी यादव, विनोद यादव रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!