Breaking News
Home / Latest / जौनपुर। बरसठी के भैसहा गांव में ईसाई मिशनरियों के प्रार्थना सभा को पुलिस ने रोका, गाँव में हडकंप
PhotoBy-Sandessh24News

जौनपुर। बरसठी के भैसहा गांव में ईसाई मिशनरियों के प्रार्थना सभा को पुलिस ने रोका, गाँव में हडकंप

जौनपुर(23दिस.) बरसठी थाना क्षेत्र के भैसहा गांव में ईसाई मिशनरियों के सक्रिय होने व प्रार्थना सभा करने की सूचना पर पहुँची पुलिस ने प्रार्थना बन्द करवा कर दोनों पक्षो को थाने ले आ कर पूछताछ कर रही है|जिसके कारण गाँव में हडकम्प मचा हुआ है |

रविवार को भैसहा गांव में ईसाई मिशनरियों का प्रार्थना सभा आयोजित था| विश्व हिन्दू परिषद मीरगंज नगर के मंत्री हिमांशू कौशल को पता चला कि उक्त गाँव में   ग्रामीणों का धर्मपरिवर्तन कराया जा रहा है| उन्होंने अपने साथ आधा दर्जन लोगों को लेकर सूचना थाने पर दिया उसके बाद प्रार्थना स्थल पर पहुँचकर विरोध किया तो लोग नही माने| थोड़ी देर में पुलिस भी मौके पर पहुँच गयी। प्रार्थना स्थल पर पुलिस आने की सूचना पर गांव के लोगों की भीड़ लग गयी। उक्त गांव में नगीना देवी पत्नी राजकरन मौर्य के घर पर ईसाई मिशनरियों द्वारा ग्रामीणों को बहका कर धर्मपरिवर्तन व प्रार्थना करवा रहे थे। मौके पर मय फोर्स पहुंचे इन्स्पेटर वीरेंद्र कुमार बरवार प्रार्थना को बन्द करवा कर पूछताछ के लिए दोनों पक्षो को थाने ले आये। उधर प्रार्थना करने आने वाले मंजू, सुशीला, गीता देवी, आरुषि मौर्य, मुन्नी देवी, शर्मिला देवी ने बताया कि हमे कोई धर्म परिवर्तन नही करा रहा है सिर्फ हम लोग अपने कल्याण के लिए प्रभु यीशु की प्रार्थना करने आते है। पैसे व जमीन की लालच देने वाली बात झूठी है।वही गांव के अखिलेश यादव विनीत कुमार मौर्य ने बताया कि प्रत्येक रविवार को दूर दूर से महिला व लड़किया प्रार्थना करने आती है जिससे ग्रामीण काफी परेशान रहते है। ग्रामीणों ने बताया कि मछलीशहर के बसहटा गांव के बबलू गौतम व महुआरी बनकट गांव के कृष्ण कुमार यादव प्रार्थना कराने आते है और लोगो को पैसे, जमीन व अन्य लालच देकर ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित करते है।इन लोगो ने बताया कि इसका असली धर्म प्रचारक नेवढ़िया थाना के तरती सरैया गांव निवासी अशोक राजभर है जो कभी कभी आता है। पुलिस ने प्रार्थना कराने वाले बबलू व कृष्ण कुमार व शिकायत करने वाले हिमांशू कौशल व उनके साथियों को थाने ले आकर जांच पड़ताल कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.