Breaking News
Home / Latest / लखनऊ। नकल हुई तो डीएम और प्रिंसिपल दोनों जायेंगे जेल – बोले सीएम योगी

लखनऊ। नकल हुई तो डीएम और प्रिंसिपल दोनों जायेंगे जेल – बोले सीएम योगी

सीएम योगी बोले नक़ल हुई तो डीएम और प्रिंसिपल दोनों जेल जायेंगे

लखनऊ(03फर.)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार नकलविहीन परीक्षाएं सम्पन्न कराने के लिए प्रतिबद्ध है। परीक्षाओं की शुचिता, पवित्रता, गुणवत्ता, पारदर्शिता, विश्वसनीयता के लिए अधिकारियों को सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि नकलविहीन परीक्षा कराने से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाए। किसी भी परीक्षा केन्द्र पर नकल पाए जाने पर सम्बन्धित जिला अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, प्रधानाचार्य तथा केन्द्र अधीक्षक व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होंगे। डिबार परीक्षा केन्द्रों को दोबारा परीक्षा केन्द्र न बनाया जाए। नकल माफिया एवं अन्य नकल कराने वालों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि जिला विद्यालय निरीक्षक स्वयं संवेदनशील केन्द्रों का भ्रमण कर निरीक्षण करें।
महाविद्यालयों की परीक्षाएं भी 10 अप्रैल तक

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश आज यहां 7 फरवरी, 2019 से प्रारम्भ हो रही हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट बोर्ड परीक्षाओं के सम्बन्ध में समस्त जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों, जिला विद्यालय निरीक्षकों आदि के साथ एक वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में दिए। हाईस्कूल की परीक्षा 28 फरवरी, 2019 को तथा इण्टरमीडिएट की परीक्षा 02 मार्च, 2019 को समाप्त होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों की परीक्षाएं भी 10 अप्रैल तक अवश्य सम्पन्न करा ली जाएं।

परीक्षा केन्द्रों के पास ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग प्रतिबंधित
मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षा केन्द्र के बाहर समाज विरोधी तत्वों अथवा वाह्य व्यक्तियों को एकत्र न होने दें। इसके लिए दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा-144 लागू करने के साथ सभी अन्य एहतियाती उपाय किए जाएं। परीक्षा केन्द्रों के आसपास 100 मीटर की परिधि में आवश्यकता पड़ने पर निषेधाज्ञा लागू की जाए। शान्ति व्यवस्था बनाए रखने तथा केन्द्रों पर अवांछित भीड़ न इकट्ठा होने देने का कार्य उपजिलाधिकारियों/नगर मजिस्ट्रेटों/कार्यकारी मजिस्ट्रेटों को दिया जाए, जो पुलिस दल के साथ अपने क्षेत्र के परीक्षा केन्द्रों का नियमित दौरा करें। परीक्षा केन्द्रों के पास ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग प्रतिबंधित कर दिया जाए।

संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों पर वाॅयस रिकाॅर्डर-सीसीटीवी रिकाॅर्डिंग की जांच
मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षा केन्द्रों के औचक निरीक्षण के दौरान वाॅयस रिकाॅर्डर युक्त CCTV कैमरा के प्रभावी रूप से कार्य करने की जांच अवश्य की जाए। संवेदनशील एवं अति संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों पर वाॅयस रिकाॅर्डर युक्त सीसीटीवी रिकाॅर्डिंग की जांच नियमित रूप से अवश्य की जाए। परीक्षा केन्द्र परिसर के अंदर मोबाइल फोन, कैलकुलेटर अथवा ऐसी कोई भी इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस, जिसे अनुचित साधन के रूप में प्रयोग की आशंका हो, ले जाने की अनुमति कदापि न दी जाए। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पाण्डेय, पुलिस महानिदेशक OP सिंह, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा राजेन्द्र कुमार तिवारी, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री SP गोयल सहित माध्यमिक शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
हाईस्कूल में 31,95,603 तथा इण्टरमीडिएट की परीक्षा 26,11,319 परीक्षार्थी
ज्ञातव्य है कि वर्ष 2019 की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में क्रमशः 31,95,603 तथा 26,11,319 कुल 58,06,922 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। वर्ष 2018 की तुलना में इस वर्ष हाईस्कूल की परीक्षा में 5,09,993 तथा इण्टरमीडिएट की परीक्षा में 4,05,913 कुल 9,15,846 परीक्षार्थियों की कमी हुई है। इस वर्ष की परीक्षा हेतु 409 राजकीय, 3372 सवित्त तथा 4573 वित्तविहीन कुल 8354 विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र निर्धारित किया गया है। गत वर्ष बनाए गए 8,549 परीक्षा केन्द्रों के सापेक्ष इस वर्ष 195 परीक्षा केन्द्र कम बनाए गए हैं। हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षाओं के सभी 8,354 परीक्षा केन्द्रों पर सी0सी0 टी0वी0 एवं वाॅयस रिकाॅर्डर लगा दिए गए हैं।
1,314 संवेदनशील तथा 448 अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्र प्रदेश में कुल 1,314 संवेदनशील परीक्षा केन्द्र तथा 448 अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्र चिन्हित किए गए हैं। परीक्षा केन्द्रों के निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण हेतु सभी जनपदों में सचल दलों का गठन किया जा चुका है। परीक्षा केन्द्रों के सघन निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण हेतु अपर मुख्य सचिव (माध्यमिक शिक्षा) द्वारा मण्डलवार 18 अधिकारियों के राज्यस्तरीय सचल दलों का गठन किया गया है। परीक्षा संचालन के सम्बन्ध में जिला अधिकारियों की अध्यक्षता में समस्त जनपदों में बैठक आयोजित की जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!