Breaking News
Home / Latest / जौनपुर।शाहगंज में साढ़े सात लाख रुपये लूट की घटना के पांच दिन बाद भी कोई ठोस सुराग नही

जौनपुर।शाहगंज में साढ़े सात लाख रुपये लूट की घटना के पांच दिन बाद भी कोई ठोस सुराग नही

शाहगंज(जौनपुर)14जन.। बीते गुरुवार को हुये साढ़े सात लाख रुपये लूट काण्ड के पांचवें दिन सोमवार तक भी पुलिस के हाथ खाली रहे। दर्जन भर से ज्यादा संदिग्धों को पुलिस ने पूछताछ हेतु बैठा रखा है।
बीते शुक्रवार की रात चार घंटे तक संदिग्धों से एसपी दिनेश पाल सिंह ने पूछताछ किया था। लेकिन उसका भी कोई नतीजा नहीं निकला। क्षेत्र में हुए पूर्व में लूट में शामिल रहे आरोपितों को पुलिस ने उठा लिया। पडोसी जनपद के भी कई संदिग्धों को उठाया गया है। लेकिन पूछताछ की रिजल्ट सिफर रहा। वहीं पीडित के बयान व घटना क्रम से वह स्वयं संदिग्ध प्रतीत होने लगा है।
मालूम रहे एराकियाना मोहल्ला निवासी मो अरशद गुरुवार को प्रातः 11 बजे पंजाब नेशनल बैंक की शाखा से सात लाख पचास हजार रुपये को कपड़े के झोले में रख खेतासराय स्थित अपनी दुकान अलसम्स गारमेंट जा रहा था। इमरानगंज बाजार में बाइक रोक अरशद से रुपयों से भरा झोला लूटेरो ने लूट लिया। पीडित के मुताबिक लूटेरो ने चलती बाइक से चाभी निकाल असलहा दिखा लूट को अंजाम दे पुन: शाहगंज की ओर भाग निकले। वहीं पुलिस उस मार्ग पर लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालने में इसका पुख्ता प्रमाण नहीं मिला। सिधाई क्रासिंग के गेट मैन ने भी इधर से उस वक़्त बाइक सवार तीन लोगों को देखने से इंकार किया। वहीं नगर व आसपास के अपराधियों गुंडा एक्ट व गैंगस्टर के आरोपितों को भी पकड़ पूछताछ किया गया। घटना के बाद पीडित ने पुलिस को सूचना देने के स्थान पर खेतासराय चला गया। जिसके चलते अपराधियों को भरपूर मौका मिल गया। वहीं पीडित के चाल चलन पर भी पुलिस ने निगाहें लगा रखी है।
इस बावत क्षेत्राधिकारी अजय कुमार श्रीवास्तव कहते हैं कि कोतवाली पुलिस समेत एसओजी क्राइम ब्रांच समेत कई टीम लगाया गया है। सर्विलांस की भी मदद ली जा रही है। लेकिन अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.